करुणा के 100 ऐसे कार्य जो करुणा दिवस पर किए जा सकते हैं।

नीचे दिये गए सभी कार्य 12 रबि-उल-अव्वल करुणा दिवस (#CompassionDay) के सन्देश और बैनर/ स्टीकर/ कार्ड आदि के साथ पूरे किए जाने चाहिए ताकि प्रत्येक के लिए समझना आसान हो जाये। आप ने जो भी रहमत का काम किया हो उसकी फोटो या वीडियो फेसबुक या इंस्टाग्राम पर #CompassionDay के साथ पोस्ट करें और लोकेशन भी टैग करें। पोस्ट के साथ छोटी सी कहानी भी लिखें।

  1. आप जो भी सामान बेचते हों उस पर एक सकारात्मक या प्रेरक संदेश लिखें।
  2. एक ग़रीब परिवार की मदद करें। जैसे कि राशन देकर।
  3. कोई ग़लती हो तो माफ़ी मांगे।
  4. सफ़ाई कर्मचारियों को सराहें और उनके लिए एक दावत रखें।
  5. अपने परिवार के प्रति प्रेमपूर्वक रहें और दयालु बनें।
  6. अपने मोहल्ले के बच्चों को आईस-क्रीम खरीद कर दें।
  7. ग़रीबों के लिए नए कपड़े खरीदें।
  8. ग़रीब बच्चों के लिए खिलौने ख़रीदें।
  9. अपने उस दोस्त को फ़ोन करें जिससे आप काफ़ी समय से नहीं मिले।
  10. उस व्यक्ति को फ़ोन करें जो उदास और अकेला हो और उसे पैग़म्बर मुहम्मद (स.अ.) के द्वारा किए गए संघर्ष के बारे मे बताएं।
  11. अपने पड़ोसी के रास्ते की भी सफाई करें।
  12. फ़ेसबुक या इंस्टाग्राम पर करुणा दिवस की शुभ कामनाएं डालें।
  13. अस्पतालों के प्रतीक्षा कक्ष (Waiting Room)  मे बैठे हुए लोगों को फल, बिस्कुट, जूस और चॉकलेट आदि बाटें।
  14. लोगों को फ़ेस मास्क और फ़ेस शील्ड बाटें।
  15. सड़को पर लोगों को पानी की बोतल बाटें।
  16. अपने आस-पास फल-सब्ज़ी विक्रेताओ से सामान ख़रीदते हुए मोल-भाव न करें, उनको कुछ ज़्यादा पैसे देते हुए उनके व्यवसाय मे उन्नति की प्रार्थना करें।
  17. सोशल मीडिया पर घृणात्मक और नकारात्मक कथनों का जवाब प्रेमपूर्वक और सकारात्मक कथनों से दें और उन्हें बताएं की आज करुणा दिवस है।
  18. स्कूल और पब्लिक लाईब्रेरी को पुस्तकें दान करें।
  19. ग़रीब बच्चों को डायपर्स और वाईप्स दान करें।
  20. ज़रूरतमंदों को मैडिकल सहायता और ज़रूरी मैडिकल एक्सेसरीज़ दान करें।
  21. ग़रीब लड़कियों को सैनिटरी नैपकिन प्रदान करें और उन्हे मासिक धर्म के विषय मे जागरुक करें।
  22. ग़रीबो को जूते-चप्पल दान करें।
  23. बच्चों को स्टेश्नरी दान करें।
  24. आवश्यकतानुसार किसी भी व्यक्ति को पैग़म्बर मुहम्मद (स.अ.) के जीवन की कठिनाईयों और संघर्ष के बारे मे बता कर प्रोत्साहित करें।
  25. सेना को या सैनिकों को अपना प्रोत्साहन, मदद और प्रशंसा प्रदान करें।
  26. अपने आस-पास की झुग्गी-झोंपङियों में रहने वाले बच्चों को खाना खिलाएं।
  27. आवारा पशुओं को भी जैसे कुत्ता, गाय, बैल आदि को कुछ खिलाएं।
  28. पार्कों मे या फ़ुटपाथ पर पक्षियों के दाने और पानी की व्यवस्था करें।
  29. यदि कहीं किसी को नेक काम करते हुए पाएं तो उसकी प्रशंसा करें हो सके तो उसे इनाम दें और बताएं कि आज करुणा दिवस है और आपने यह नेक काम किया है। उस कार्य की वीडियो बनाकर या फोटो लेकर सोशल मीडिया पर शेयर करें।
  30. अगर आपके पास कुछ ऐसी वस्तुएं हैं जो आप इस्तेमाल नही करते, तो उन वस्तुओं को किसी ज़रूरतमंद या चैरिटिबल संस्था को दान कर दें।
  31. किसी ज़रूरतमंद के घर या घरेलू उपकरण की मरम्मत करा दें।
  32. यौम-ए-रहमत के दिन आप लोगों को कुछ डिस्काउंट दे सकते हैं, यदि आप कुछ समान बेचने का काम करते हैं।
  33. अपने घर में या अपने घर के आस-पास काम करने वाले मजदूरों को, गार्ड को और पुलिस वालों को फूल भेंठ करें।
  34. गरीबों को भोजन और धन दान करें।
  35. जिन लोगों के पास घर नहीं हैं उन्हे कम्बल या बिस्तर या टेंट दान करें।
  36. अगर आपके पास गाड़ी है तो अपने किसी दोस्त या सहकर्मी को लिफ्ट देकर उसे जहाँ जाना हो वहाँ छोड़ दें।
  37. यदि आप बाॅस हैं तो अपने यहां यौम-ए-रहमत के दिन छुट्टी दे सकते हैं। या उनके लिये दावत का आयोजन करें।
  38. जिसको आवश्यकता हो, उसे समय दान करें।
  39. मज़दूर की सहायता करें।
  40. किसी अजनबी का राशन घर तक या गाड़ी तक पहुँचाने में मदद करें।
  41. फेरीवालों को अपना ठेला खींचने या कहीं चढ़ाने मे मदद करें।
  42.  अपने बच्चों या पड़ोसी के बच्चों की मदद करें, जिन्हें अपना होमवर्क करने में परेशानी आ रही हो ।
  43. किसी बच्चे, बूढ़े या दिव्यांग व्यक्ति की सड़क पार करने मे मदद करें।
  44. कोई व्यक्ति जो अपने घर (Home Town) जाना चाहता हो तो उस का टिकट खरीद कर उसकी मदद करें।
  45. यदि कोई व्यक्ति  अपना कोई छोटा सा काम जैसे, चाय का स्टाॅल लगाना, फल या सब्ज़ी का ठेला शुरु करना चाहता हो तो उसकी मदद करें।
  46. घर के कामो मे घर की औरतों की मदद करें।
  47. आप व्यक्तिगत रूप से सफ़ाई‌ – कर्मियों को अलग से पैसे देकर अपने आस-पास की सड़को की सफ़ाई करवा सकते हैं।
  48. किसी के लिए दरवाज़े को खुला रखने के लिए पकड़ कर खड़े रहें।
  49. अपनी कालोनी या आस-पास के गली-मुहल्ले में सामूहिक-कूड़ेदान लगाने मे सहयोग करें।
  50. करुणा दिवस पर किसी मज़दूर या सफ़ाई कर्मी की या नौकर की मज़दूरी बढ़ा कर दें।
  51. अपने पास एक छाता रखिए जिसे आप सरलतापूर्वक तेज़ धूप या बारिश के दौरान दे सकें।
  52. #CompassionDay लिख कर लोगों के लिए उदार, प्रेरणादायी और उपयोगी विचार प्रस्तुत करें।
  53. बच्चों के लिए पार्कों में बबल्स कंटेनर, स्ककिपिंग रोप और हूला-हूप्स आदि की व्यवस्था करें।
  54. लोगों के लिए नि:शुल्क जूस और नीबू पानी स्टाॅल लगाएं।
  55. अपने दोस्त को फूल भेंट करें।
  56. किसी के चेहरे पर हंसी लाने की वजह बनिए।
  57. स्वयं अपनी जगह छोड़ कर किसी को बैठने के लिए कहें।
  58. ग़रीब बच्चों के लिए एक दिवसीय क्राफ्ट क्लास या पेंटिंग कम्पीटिशन का आयोजन करें।
  59. जिससे भी मिलें मुस्कुराते हुए मिलें और सलाम करें।
  60. किसी ग़रीब के मैडिकल बिल का भुगतान करें या दवाईयाँ ख़रीद कर उसकी मदद करें।
  61. किसी की स्कूल फ़ीस देकर मदद करें।
  62. किसी व्यक्ति के घर का किराया देकर, बस टिकिट ख़रीद कर, रिक्शा या आटो का किराया दें कर उसकी मदद करें।
  63. वृक्षारोपण करें।
  64. अपने आस-पास के पार्क मे बच्चों के लिए झूले की व्यवस्था करें।
  65. अपने पड़ोसियों के लिए भी पेड़-पौधे लगाएं।
  66. आप के पास जो कुछ भी प्लास्टिक का कूड़ा-कचरा हो उसे रिसाईकिल करें।
  67. अंग दान के लिए खुद को रजिस्टर करें।
  68. पिंजरे मे बंद किसी पशु या पक्षी को आज़ाद करें। या उनके पालन-पोषण की जिम्मेदारी लें।
  69. ग्रोसरी शॉप पर लोगो को शॉपिंग कार्ट लाकर दें।
  70. अपना खाना मिल-बांट कर खाएं।
  71. अपने दादा-दादी या नाना-नानी और अन्य बुजुर्गों से मिलने जाएं और उनकी जो भी सेवा कर सकते हैं अवश्य करें।
  72. कम से कम किसी एक ग़रीब बच्चे को पढ़ाने की जिम्मेदारी लें।
  73. पड़ोसियों को खाना दें या अपने घर आमंत्रित करें।
  74. किसी भी व्यक्ति को एक हुनर, जो भी आपको आता हो, सिखाएं।
  75. जरूरत मंद व्यक्ति को कुछ पैसे दें।
  76. जब इलेक्ट्रोनिक् उपकरणों का प्रयोग नहीं हो रहा हो तब उनका प्लग निकाल दें या स्विच ऑफ कर दें।
  77. अपने किसी सम्बंधी से मिलने जाएं और उन्हे उपहार दें।
  78. किसी अस्पताल, अनाथ आश्रम या वृद्धाश्रम जाकर लोगों के साथ समय बिताएं और उन्हे उपहार भी दें।
  79. किसी बीमार का हाल पूछने के लिए जाएं।
  80. चश्मे की दुकान पर जाकर किसी ज़रूरत मंद को चश्मा दिलाएं।
  81. फुटपाथ वगैरह पर, जहाँ कुछ लिखने या पेंट करने की अनुमति हो, वहाँ शिक्षाप्रद और प्रेरणादायक संदेश लिखें।
  82. यदि आप के पड़ोसी को अस्पताल या डॉक्टर के पास जाना है तो उसके साथ जाएं।
  83. उन माता पिता को अपना समय दान करें या घरेलू कार्यों मे हाथ बटाएं, जिनके बच्चे दिव्यांग हैं।
  84. पार्कों, बाज़ारों और समुद्री किनारों से कूड़ा-कचरा हटा कर स्वच्छता अभियान में सहयोग करें।
  85. घायल या बीमार पशु-पक्षियों को पशु-चिकित्सक के पास ले जाएं।
  86. बाज़ारों या सामूहिक स्थानों पर बुज़ुर्गों की मदद करें।
  87.  अपने पड़ोस की किसी वृद्ध महिला की मदद करें, जिसकी मेड छुट्टी पर हो।
  88. आप जिस भी क्षेत्र में काम करते हों करुणा दिवस के दिन नि:शुल्क सेवा प्रदन करें।
  89. बिस्कुट, कुकीज़ और टाॅफी आदि के पैकेट तैयार करें और सड़क पर आते-जाते बच्चों को बाटें।
  90. बिरयानी के कुछ पैकेट तैयार कर कर मजदूरों और झुग्गी-झोपड़ियों में बाटें।
  91. आनलाईन बिलो का भुगतान करने मे बुज़ुर्गो की सहायता करें।
  92. बुज़ुर्गों को स्मार्ट फ़ोन के भिन-भिन एप्स के बारे मे बता सकते हैं जैसे कि WhatsApp पर बात करना आदि।
  93. 93.                     नवजात शिशु की माँ को अपना समय दान करके आप उसे अपनी नींद पूरी करने को कह सकते हैं।
  94. दिव्यांग लोगों को व्हील-चेयर, हेयरिंग-एड (Hearing-aid) आदि ख़रीद कर दे सकते हैं।
  95. ग़रीब लड़कियों की शादी मे आर्थिक रूप से मदद करें।
  96. जो लोग शादी का ख़र्चा नही उठा सकते उनके लिए सामूहिक विवाह का प्रबंध करें।
  97. बाज़ार जैसे सामूहिक स्थानों पर ठंडे और गर्म पानी का वाटर डिस्पेंसर लगाएं।
  98. भटके हुए को रास्ता बताएं।
  99. पोस्टमैन, डिलीवरीबॉय या कचरा एकत्र करने वालों को चाय, पानी या कॉफी दें।
  100. किसी भी संस्था की आर्थिक रूप से व समय दान करके मदद करें जो लोगों के कल्याण के कार्य करती हो।
Click here to sign the petition http://chng.it/LWdVprfk

Comments

  • October 24, 2020
    Saleem Ahmad

    इन्सा अल्ला मैं ज़रूरत मंदो के लिए एक clinic खुलवाउगा
    करूणा दिवस वाले दिन इन्सा अल्ला Opening होगी

    Reply

Add Comment

What You Need to Know About WORK

WORK, as an organisation, strives to instil compassion in the hearts of people to help create an interconnected society living together as one.

Follow us:

WORK for Compassion

Work Global