9 year old donating money

As you sow, so shall you reap

“As you sow, so shall you reap” बड़ी मशहूर कहावत है।

“बेटा यह 10 रुपए उन अंकल को दे दो”

हमारे माता पिता ऐसा क्यों करते हैं? ताकि हमारे अंदर भी दान पुण्य की भावना विकसित हो। आज हम अपने बच्चों को सदकर्म करने की प्रेरणा देंगे कल वह बड़े होकर समाज अर्थात हमारा सहारा बनेंगे। यही बच्चे मरने के उपरांत भी हमारे लियें पूण्य कमाने का माध्यम बनते हैं।

इसी प्रकार का एक आश्चर्य चकित कार्य आज WORK की एक सदस्य द्वारा हुआ। उन्होंने बच्ची में वे values उजागर कीं जिन पर हम सब को न केवल गर्व होना चाहिए बल्कि प्रेरणा लेना चाहिए।

Zuha Khan donating money to the needy (WORK UP West)
Zuha Khan donating money to the needy (WORK UP West)

9 वर्ष की बच्ची ज़ुहा ख़ान ने WORK को 10,000 रूपये अपनी savings में से दान किये ताकि उसे दीन दुखिओं की सहायता के लियें प्रयोग किया जा सके। आज जबके बच्चे Pocket Money को न सिर्फ अपना अधिकार समझते है बल्कि उसे किसी को छूने भी नहीं देते, लेकिन इस कार्य को करके इस बच्ची ने एक मिसाल क़ायम की।

ईश्वर इस बच्ची एंव इसके माता पिता को खूब धन दान, सच्ची शांति अतः पुण्य दे।

#humanity #helptheneedy #donatemoney #donatetopoor #begenerous

Add Comment

What You Need to Know About WORK

WORK, as an organisation, strives to instil compassion in the hearts of people to help create an interconnected society living together as one.

Follow us:

WORK for Compassion

Work Global